VENTURE FUND

मुखपृष्ठ

सिडबी के व्यवसाय कार्यक्षेत्र में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) सम्मिलित हैं, जो उत्पादन, रोजगार और निर्यात के रूप में राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान करते हैं। एमएसएमई क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण स्तंभ है, चूँकि यह क्षेत्र लगभग 3 करोड़ इकाइयों के विशाल नेटवर्क के साथ, 7 करोड़ लोगों के लिए रोजगार पैदा करता है, 6,000 से अधिक उत्पादों का विनिर्माण करता है, प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से विनिर्माण उत्पादन का लगभग 45% और निर्यात का लगभग 40% योगदान करता है।

इसके अतिरिक्त, एमएसएमई के महत्वपूर्ण क्षेत्रों अर्थात ऊर्जा दक्षता, स्वच्छ पर्यावरण और प्राप्य वित्त को प्रत्यक्ष सहायता प्रदान करता है, ताकि सेवा क्षेत्र के अलावा विलम्बित भुगतानों में हो रही देरी को दूर किया जा सके। सिडबी एमएसएमई को उप-ऋण के रूप में अपेक्षित प्रवर्तक मार्जिन, अमूर्त रूप जैसी विभिन्न आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु प्रत्यक्ष जोखिम पूंजी सहायता भी प्रदान करता है। यह अर्ध इक्विटी के रूप में अतिरिक्त ऋण जुटाने के लिए उन्हें सक्षम बनाता है। सिडबी उद्यम पूँजी निधि के माध्यम से शुरू की जाने वाली नई प्रारंभिक उद्यमों सहित एमएसएमई इकाइयों के लिए इक्विटी सहायता भी प्रदान करता है।