VENTURE FUND

निधियों की निधि

एमएसएमई अपनी वित्तीय आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए काफी हद तक प्रवर्तकों के संसाधनों, मित्रों और रिश्तेदारों से उधारियों और बैंकों / वित्तीय संस्थाओं से प्रतिभूत ऋणों पर निर्भर रहा है। एमएसएमई के वित्तपोषण, विशेष रूप से ज्ञान-आधारित उद्यमों से संबंधित कुछ मुद्दे हैं, चूँकि ये उद्योग मूर्त आस्तियों का सृजन नहीं करते हैं। एमएसएमई द्वारा ऋण वित्त जुटाने की पारंपरिक विधि जारी है, जिसकी अपनी अन्तर्निहित सीमाएँ हैं, जैसेः गियरिंग अनुपात मानदंड, आस्ति कवरेज आदि। इस क्षेत्र के लिए इक्विटी पूंजी के प्रवाह को सुगम बनाने के लिए पारिस्थितिकी प्रणाली में हितधारकों ने अनेक उपाय किए हैं।

सिडबी ने देश में एमएसएमई उद्यम पारिस्थितिकी प्रणाली के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। सिडबी ने अब तक 88 उद्यम पूँजी निधियों को योगदान दिया है, जिससे 472 से अधिक एमएसएमई को रुपए 5600 करोड़ से अधिक का निवेश उत्प्रेरित हुआ है।